शुक्रवार, 16 सितंबर 2016

बहन का स्नेह मिलना खुशनसीबी है....कृष्ण मोहन सिंह


एक छोटा-सा पहाड़ी गांव था। वहां एक किसान, उसकी पत्नी, एक बेटा और एक बेटी रहते थे। एक दिन बेटी की इच्छा स्कार्फ खरीदने की हुई और उसने पिताजी की जेब से 10 रुपए चुरा लिए।

पिताजी को पता चला तो उन्होंने सख्ती से दोनों बच्चों से पूछा - पैसे किसने चुराए ?
अगर तुम लोगों ने सच नहीं बताया तो सजा दोनों को मिलेगी। बेटी डर गई, बेटे को लगा कि दोनों को सजा मिलेगी तो सही नहीं होगा।

वह बोला - पिताजी, मैंने चुराए, पिताजी ने उसकी पिटाई की और आगे से चोरी न करने की हिदायत भी दी। भाई ने बहन के लिए चुपचाप मार खा ली। वक्त बीतता गया। दोनों बच्चे बड़े हो गए।

एक दिन मां ने खुश होकर कहा - दोनों बच्चों के रिजल्ट अच्छे आए हैं। पिताजी (दुखी होकर) - पर मैं तो किसी एक की पढ़ाई का ही खर्च उठा सकता हूं।

बेटे ने फौरन कहा - पिताजी, मैं आगे पढ़ना नहीं चाहता।
बेटी बोली - लड़कों को आगे जाकर घर की जिम्मेदारी उठानी होती है, इसलिए तुम पढ़ाई जारी रखो। मैं कॉलेज छोड़ दूंगी। अगले दिन सुबह जब किसान की आंख खुली तो घर में एक चिट्ठी मिली।

उसमें लिखा था - मैं घर छोड़कर जा रहा हूं। कुछ काम कर लूंगा और आपको पैसे भेजता रहूंगा। मेरी बहन की पढ़ाई जारी रहनी चाहिए। एक दिन बहन हॉस्टल के कमरे में पढ़ाई कर रही थी।

तभी गेटकीपर ने आकर कहा - आपके गांव से कोई मिलने आया है। बहन नीचे आई तो फटे-पुराने और मैले कपड़ों में भी अपने भाई को फौरन पहचान लिया और उससे लिपट गई।

बहन - तुमने बताया क्यों नहीं कि मेरे भाई हो - भाई।

मेरे - ऐसे कपड़े देखकर तुम्हारे सहेलियाें में बेइज्जती होगी। मैं तो तुम्हें बस एक नजर देखने आया हूं।
भाई चला गया - बहन देखती रही।

बहन की शादी शहर में एक पढ़े - लिखे लड़के से हो गई। बहन का पति कंपनी में डायरेक्टर बन गया। उसने भाई को मैनेजर का काम ऑफर किया, पर उसने इनकार कर दिया।

बहन ने नाराज होकर वजह पूछी तो भाई बोला - मैं कम पढ़ा-लिखा होकर भी मैनेजर बनता तो तुम्हारे पति के बारे में कैसी-कैसी बातें उड़तीं, मुझे अच्छा नहीं लगता।

भाई की शादी गांव की एक लड़की से हो गई। इस मौके पर किसी ने पूछा कि उसे सबसे ज्यादा प्यार किससे है ?

वह बोला - अपनी बहन से, क्योंकि जब हम प्राइमरी स्कूल में थे तो हमें पढ़ने दो किमी दूर पैदल जाना पड़ता था। एक बार ठंड के दिनों में मेरा एक दस्ताना खो गया।

बहन ने अपना दे दिया - जब वह घर पहुंची तो उसका हाथ सुन्न पड़ चुका था और वह ठंड से बुरी तरह कांप रही थी। यहां तक कि उसे हाथ से खाना खाने में भी दिक्कत हो रही थी। उस दिन से मैंने ठान लिया कि अब जिंदगी भर मैं इसका ध्यान रखूंगा। बहन ने हमारी हर गलती का बचाव किया था बचपन से वो हमे मां-बाप से ज्यादा स्नेह करती है।

जीवन में कुछ मिले या ना मिले पर बहन का स्नेह मिलना खुशनसीबी है।

-कृष्ण मोहन सिंह

7 टिप्‍पणियां:

  1. Hello . Want to share your blog with the world? To find people who share the same passions as you? Come join us.
    Register the name of your blog URL, the country
    The activity is only friendly
    Imperative to follow our blog to validate your registration
    We hope that you will know our website from you friends.
    http://world-directory-sweetmelody.blogspot.com/
    Have a great day
    friendly
    Chris
    please Follow our return
    All entries will receive a corresponding Awards has your blog

    उत्तर देंहटाएं
  2. Hello . Want to share your blog with the world? To find people who share the same passions as you? Come join us.
    Register the name of your blog URL, the country
    The activity is only friendly
    Imperative to follow our blog to validate your registration
    We hope that you will know our website from you friends.
    http://world-directory-sweetmelody.blogspot.com/
    Have a great day
    friendly
    Chris
    please Follow our return
    All entries will receive a corresponding Awards has your blog

    उत्तर देंहटाएं
  3. Hello !
    Welcome to the "Directory Blogspot"
      I did not know you had other Website
    There are henceforth in the Directory Blogspot division in INDIA
    You can put in the website each arward
    Get a special price "Directory award" for your blog! with compliments
       Best Regards
       Chris
    A pleasure to offer you a arward for your site
    http://nsm08.casimages.com/img/2015/04/22//15042212171618874513195366.png

    उत्तर देंहटाएं
  4. http://world-directory-sweetmelody.blogspot.fr/search/label/Asia%20India%20_____________501%20%20%20Members

    उत्तर देंहटाएं
  5. http://world-directory-sweetmelody.blogspot.fr/search/label/Asia%20India%20_____________501%20%20%20Members

    उत्तर देंहटाएं
  6. Hello !
    Welcome to the "Directory Blogspot"
      I did not know you had other Website
    There are henceforth in the Directory Blogspot division in INDIA
    You can put in the website each arward
    Get a special price "Directory award" for your blog! with compliments
       Best Regards
       Chris
    A pleasure to offer you a arward for your site
    http://nsm08.casimages.com/img/2015/04/22//15042212171618874513195366.png

    उत्तर देंहटाएं